ओम शांति का अर्थ क्या है? What is the meaning of Om Shanti?

51 / 100

मेरे संपूर्ण दोस्तों को मेरी तरफ से ओम शांति। दोस्तों आज हम ओम शांति शब्द के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं. हम सभी ने इस शब्द का कभी ना कभी उच्चारण तो किया ही होगा। इसी के साथ इस शब्द को कौन बोलता है और क्या हमें भी इस शब्द का उच्चारण करना चाहिए। यह शब्द हमें क्या बताता है और इस शब्द में क्या बातें छुपी हुई हैं. उन सभी के बारे में इस लेख में चर्चा करेंगे। मैंने जो अनुभव किया उस अनुभव को मैं यहां बता रहा हूं. हम अपने जीवन में धार्मिक हो या ना हो लेकिन हमें धर्म संबंधी ज्ञान जरूर होना चाहिए। क्योंकि इसके माध्यम से हम अपने आप को सत्य के रास्ते लेकर जाते हैं और असत्य गलत जैसे शब्द और इन के रास्ते हम नहीं जाते हैं. तो चलिए इस शब्द के बारे में विस्तार से जानते हैं.

Om Shanti from my side to all my friends. Friends, today we are going to give information about the word Om Shanti. We all must have heard this word at one time or another. With this, who speaks this word, and should we also pronounce this word? What does this word tell us and what is hidden in this word? All of them will be discussed in this article. I am narrating what I experienced here. We may or may not be religious in our life but we must have knowledge related to religion. Because through this we take ourselves to the path of truth and words like untruth, and wrong and we do not go through these. So let us know about this word in detail.

ओम शांति शब्द कौन उच्चारण करता है? Who pronounces the word Om Shanti?

ओम शांति शब्द सबसे ज्यादा उच्चारण ब्रह्माकुमारी और ब्रह्माकुमार उच्चारण करते हैं. जहां धार्मिक और धर्म संबंधी पढ़ाई कराई जाती है। वहां इसको उच्चारण किया जाता है. यह शब्द उच्चारण करने का मूल कारण यह है. इससे एक दूसरे को नमन किया जाता है। जैसे हम किसी से मिलते हैं. तो सामान्य रूप से हम उसे नमस्ते हेलो आदि कहते हैं. ऐसे में ओम शांति शब्द सिर्फ वही ज्यादा उच्चारण करते हैं. जो ब्रह्मकुमारी और ब्रह्मकुमार बनना चाहते हैं। यह शब्द उनके लिए एक दूसरे को नमन करना सिखाता है.

The word Om Shanti is most pronounced by Brahma Kumari and Brahma Kumar. Where religious and religious studies are conducted. There it is pronounced. This is the basic reason for uttering this word. It honors each other. Like when we meet someone. So normally we say hello hello etc. to him. In such a situation, the word Om Shanti is pronounced only by them. Those who want to become Brahma Kumaris and Brahma Kumars. This word teaches them to bow down to each other.

ओम शांति शब्द का अर्थ हम कैसे लगाएं? How do we understand the meaning of the word Om Shanti?

ओम शांति का सीधा सीधा अर्थ यह होता है. कि जो ॐ शांति बोलता है. वह बताता है कि मेरी आत्मा स्वच्छ है, पवित्र है और मैं आपको नमन करता हूं। मैं अपने संस्कार को अभी तक नहीं भूला हूं, और मैं हमेशा अपने संस्कार बढ़ाता रहूंगा और अपनी आत्मा को पवित्र रखूंगा। सच्चा बोलूंगा, अच्छा बोलूंगा किसी को धोखा नहीं दूंगा हमेशा सही शब्द का उच्चारण करूंगा। अपनी बातों से किसी को भी गलत नहीं ठहराऊंगा। मैं हमेशा अच्छा बन कर रहूंगा।

This is the direct meaning of Om Shanti. That one who speaks peace. He tells me that my soul is clean, pure and I bow to you. I have not forgotten my sacraments yet, and I will always increase my sacraments and keep my soul pure. I will speak truthfully, I will speak well, I will not cheat anyone, and I will always pronounce the right words. I will not blame anyone for my words. I will always be good.

मैं कौन हूं? Who am I?

क्या आपने कभी अपने आप से पूछा कि मैं कौन हूं? या कभी ऐसा हुआ है, कि किसी और ने पूछा है. कि आप कौन हो? चलिए छोड़िए अगर मैं आपसे पूछूं कि आप कौन हो तो आप इसका क्या उत्तर दोगे। ऐसे में आपका उत्तर होना चाहिए। कि मैं एक आत्मा हूं. जो कि इस शरीर में हूं, और जब यह शरीर मुझको छोड़ेगा। तो मैं दूसरे शरीर में चले जाऊंगा। क्योंकि हम सभी एक आत्मा है. जिसको अपने एक घर की आवश्यकता होती है. वह हमारा शरीर है. हमारी आत्मा हमारे मस्तिष्क में रहती है. जहां हम तिलक लगाते हैं वहां होती है. मैं एक सच्ची और संस्कारी आत्मा हूं. ऐसा आप उत्तर दे सकते हैं यह उत्तर सर्वमान्य है.

Have you ever asked yourself who am I? Or has it ever happened, that someone else has asked? that who are you? Come on, if I asked you who you are, what would you answer? So your answer should be. that I am a soul. Who am I in this body, and when this body will leave me? Then I will move to another body. Because we are all one soul. Who needs a house of his own? That is our body. Our soul resides in our brain. Where we apply tilak, it happens there. I am a true and cultured soul. You can answer like This answer is universal.

अगर हम ब्रह्मकुमारी और ब्रह्मकुमार बन जाते हैं. तो हमें क्या परिवर्तन आएगा? If we become Brahma Kumaris and Brahma Kumars. So what will change for us?

वास्तव में यह प्रश्न मैंने खुद से पूछा है, और मैंने इसका आंसर भी ढूंढ लिया है। जब हम इस अवस्था में होंगे। तो हम को काफी परिवर्तन का महसूस होता है. अगर हम सामान्य इंसान बनकर अपना जीवन यापन करते रहे. तो हम धर्म और संस्कृति को ज्यादा मायना नहीं देते हैं. क्योंकि हम अपनी ही परिस्थिति में खोए रहते हैं. इसी को पूरा करने के लिए हम लगे रहते हैं. जब हम अपने आपको परिवर्तन करेंगे। तो आप देखेंगे कि आप अपने आप को शांत महसूस कर रहे होंगे। आपकी भाषा, आपका क्रोध, आपकी सोच और आपका संस्कार हर चीज परिवर्तन हो चुका होगा। क्योंकि आप में शिव बाबा का ज्ञान उनकी राह आपके अंदर समा चुकी होगी। आप खुदमें एक सकारात्मक सोच उत्पन्न कर चुके होंगे। क्योंकि इस अवस्था में आप अपने आप को पहचान चुके होंगे। कि मैं कौन हूं? और मेरे आत्मा संस्कार क्या है?

Actually, I have asked this question myself, and I have found the answer too. When we are in this state. So we feel a lot of change. If we continue to live our lives as normal human beings. So we don’t give much importance to religion and culture. Because we are lost in our own circumstances. We are working hard to accomplish this. When we change ourselves Then we will see that you will be feeling calm. Your language, your anger, your thinking, and your culture, everything must have changed. Because the knowledge of Shiv Baba in you must have entered his path in you. You must have created a positive mindset in yourself. Because in this state you must have recognized yourself. that who am I? And what is my soul right?

deepakbhatt

Welcome all of you to my website. I keep updating posts related to blogging, online earning and other categories. Here you will get to read very good posts. From where you can increase a lot of knowledge. You can connect with us through our website and social media. Thank you