How to Increase Organic Traffic in Hindi 2023

  • Post author:
  • Post category:Blogging Hindi
  • Post last modified:December 27, 2022
  • Reading time:6 mins read
75 / 100

How to Increase Organic Traffic in Hindi: वेबसाइट में यदि ऑर्गेनिक ट्रैफिक लेकर आना चाहते हैं. और इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं. तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं। मैं आपको जानकारी दूंगा कि किस तरीके से हम अपनी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक लेकर आ सकते हैं.

ऑर्गेनिक ट्रैफिक लेकर आने के लिए हमें अपनी वेबसाइट और उसकी पोस्ट को गूगल के फर्स्ट पेज में लेकर आना है. इसके लिए हमें अपनी वेबसाइट में सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करना होता है।

लेकिन उसके बाद भी हमारी वेबसाइट की पोस्ट इतना जल्दी नहीं आती है. सर्च इंजन में इसमें कितना समय लगेगा। उसके बारे में भी हम नहीं कह सकते हैं.

लेकिन हम इसमें काम जरूर कर सकते हैं। तो हमें अपनी वेबसाइट को सक्सेसफुल बनाने के लिए क्या करना है. उसके बारे में आज की पोस्ट में हम जानेंगे।

Top 10 Zero Investment Business Ideas 

Top 10 Online Business Ideas in Hindi 

Online Jobs without Investment in Hindi

How to Increase Organic Traffic in Hindi 2023

ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ाने के लिए मैं आपको कुछ टिप्स बताऊंगा। यहां से आपको जानकारी मिलेगी कि आपको क्या-क्या काम करना है. यह सभी मार्केटिंग टिप्स हैं। जो कि आपकी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक लेकर आएंगे। तो चलिए शुरू करते हैं.

  • Write posts for people not for Google
  • Learn how to do keyword research and then enter posts
  • Add Websites and Posts to Search Console
  • Write your post in the structure of a featured snippet
  • Make your website and posts mobile friendly
  • Try to Build High-Quality Backlinks
  • keep updating the post regularly
  • Try to write a high-quality post
  • keep updating the website from time to time
  • Try Action and React

तो चलिए ऊपर दिए गए जितने भी टॉपिक हैं। उनके बारे में विस्तार से समझते हैं। और मैं आपको इन सभी को करने का तरीका बताऊंगा। तो आप इन सभी को अपना के समझ के प्रयोग करने की कोशिश करें।

1. Write posts for people not for Google

जैसे कि गूगल अपने लिए काम नहीं करता है. लोगों के प्रश्नों का जवाब देता है. और उनकी मदद करता है। ऐसे में यदि आप गूगल के लिए या अपने लिए लिखते हैं। तो उससे दूसरों को क्या फायदा होगा।

इसलिए जब भी आप अपनी वेबसाइट में नए पोस्ट लिखें। तो अपने लिए या गूगल के लिए ना लिखें। उन लोगों के लिए लिखें जिन लोगों को आपके आर्टिकल की जरूरत है। और आपको अपने पोस्ट में क्वेश्चन नहीं बल्कि आंसर देने हैं.

क्योंकि लोग गूगल में सिर्फ अपने सवालों का जवाब ढूंढते हैं. ऐसे में यदि आप उनके सवालों का जवाब के बारे में पोस्ट नहीं लिखेंगे। तो आपकी पोस्ट को गूगल रैंक नहीं करेगा।

क्योंकि गूगल हमेशा से लोगों के सवालों का जवाब देता आ रहा है। इसलिए वह उन्हीं पोस्ट को ज्यादा पसंद करता है। जो लोगों के सवाल के जवाब होते हैं. क्योंकि गूगल अभी यूजर को ज्यादा महत्व दे रहा है.

2. Learn how to do keyword research and then enter posts

यदि अभी आप अपनी पोस्ट बनाते समय अंधाधुन टॉपिक में पोस्ट लिखेंगे। और पब्लिश करेंगे तो आपकी पोस्ट रैंक नहीं होगी। आपको वही लिखना है. जो ट्रेंड में चल रहा है. इसी के साथ यदि आप बिना कीवर्ड रिसर्च पोस्ट लिखते हैं.

तब भी आपकी पोस्ट गूगल में रैंक नहीं हो पाएगी। क्योंकि गूगल में क्या सर्च हो रहा है. यदि उसके बारे में लिखा जाए। तो शायद आपकी पोस्ट का नंबर बढ़ जाएगा। लेकिन आपने उस टॉपिक में पोस्ट डाल दिया।

जिसके बारे में लोग सर्च ही नहीं कर रहे हैं। तो आपकी पोस्ट ना तो रैंक होगी। ना उसमें कोई विजिटर आएगा इसलिए कीवर्ड रिसर्च करना सीखें। कीवर्ड रिसर्च करने के लिए बहुत सारे टूल्स गूगल में अवेलेबल है। उनकी मदद आप ले सकते हो.

3. Add Websites and Posts to Search Console

सर्च कंसोल में अपनी वेबसाइट को जरूर ऐड करें। यहां से आपको आपकी वेबसाइट सर्च इंजन में दिखाने में मदद मिलती है. सर्च कंसोल आपको गूगल का मिल जाएगा। और इसी के साथ bing का सर्च कंसोल में भी आप अपनी वेबसाइट को ऐड करें।

यहां से आपकी वेबसाइट का साइटमैप लग जाता है। और उसके बाद आपकी वेबसाइट की पोस्ट अपलोड होने के बाद गूगल आपकी वेबसाइट की पोस्ट को क्रूल करना चालू कर देगा।

तो आपकी वेबसाइट कुछ ही समय में गूगल में एक्टिव हो जाएगी। इसमें जब आप अपनी वेबसाइट को ऐड कर दोगे। तो पोस्ट अपडेट होने के बाद से ही गूगल के सर्च इंजन को आपकी वेबसाइट की नई पोस्ट के बारे में जानकारी हो जाती है.

4. Make your website and posts mobile friendly

आपको अपनी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली बनानी होगी। इसका मतलब यह होता है कि आपकी वेबसाइट लैपटॉप मतलब कंप्यूटर और मोबाइल में सही तरीके से रिस्पांस दे रही है या नहीं।

क्योंकि आपकी वेबसाइट मोबाइल में अच्छी तरीके से ना खुले। तो आपकी पोस्ट रैंक नहीं हो पाएगी। इसी के चलते यूजर एक्सपीरियंस भी अच्छा नहीं बनेगा। क्योंकि गूगल हमेशा यूजर एक्सपीरियंस को फर्स्ट प्रायरिटी देता है.

यदि यूजर आपकी वेबसाइट में आने के बाद दूसरी पोस्ट में जाता है. तो आपकी वेबसाइट गूगल अच्छा मानता है। यदि यूजर आपकी पोस्ट में आने के बाद पीछे जाकर दूसरी वेबसाइट में जाता है। तो गूगल आप की वेबसाइट को अच्छा नहीं मानेगा। और आपके वेबसाइट की पोस्ट भी रैंक नहीं करेगा।

एक नई वेबसाइट के लिए बैकलिंक तो बहुत ही जरूरी होते हैं. क्योंकि नई वेबसाइट को गूगल अच्छी तरीके से नहीं समझता है. जब तक हम उसमें सारे सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के फैक्टर यूज नहीं कर देते हैं. जितने भी रैंकिंग फेक्टर हैं।

उनको प्रयोग करने के बाद हमें बैंकलिंक बनाने होते हैं. बैकलिंक हमारी वेबसाइट को ऊपर की तरफ फेकते हैं. मतलब बैकलिंक्स हमको कोई दूसरी वेबसाइट देती है। यह हम उस में बनाते हैं जब कोई व्यक्ति उस वेबसाइट में आता है।

तो वहां से हमारी वेबसाइट की पोस्ट में यदि आएगा। तो उस बैकलिंक के माध्यम से आप की वेबसाइट रैंक जल्दी होगी। बैकलिंक बनाने का सही तरीका आपको सोशल मीडिया में अकाउंट बनाना है.

क्योंकि सोशल मीडिया सबसे ज्यादा चलने वाला प्लेटफार्म है। वहां से यदि आप बैकलिंक तैयार करते हैं। तो आपकी वेबसाइट फास्ट इंप्रूव होगी।

बाकी आप फ्री वेबसाइट बनाने वाली टूल्स का प्रयोग करके वहां पर अपना वेबसाइट के नाम से डेमो वेबसाइट बनाएं और वहां अपनी वेबसाइट की पोस्ट की लिंक शेयर करें। जब वहां से विजिटर आएंगे तब आपकी वेबसाइट को ज्यादा प्रॉफिट होगा।

6. keep updating the post regularly

जैसा कि शुरू में मैंने बोला था कि आप जो पोस्ट लिख रहे हैं. वह आप गूगल के लिए नहीं लोगों के लिए देखें लेकिन गूगल को भी आप ही है बताएं। कि आप अपनी वेबसाइट में रेगुलर पोस्ट अपडेट कर रहे हैं.

ताकि उसे यह जानकारी मिले कि हमारी वेबसाइट रेगुलर अपडेट हो रही है। तो क्यों ना लोगों को इस वेबसाइट की पोस्ट के बारे में बताया जाए। सामान्यतया गूगल पर्सनली हमारी वेबसाइट को नहीं देखता है।

गूगल ने अपने एल्गोरिदम सिस्टम में इंस्ट्रक्शन पहले से फिट किए हुए हैं। जो हमारी वेबसाइट को एनालाइज करते हैं। इसलिए यदि हम अपनी वेबसाइट रेगुलर अपडेट करते रहेंगे। तो इसमें हमारी वेबसाइट अच्छा परफॉर्मेंस करेगी। और उसी के साथ वेबसाइट की पोस्ट रैंक होने में गूगल हमें सहयोग करेगा।

7. Try to write a high-quality post

कई ब्लॉगर को ऐसा लगता है. कि हाई क्वालिटी पोस्ट का मतलब हमें अपने पोस्ट में ज्यादा से ज्यादा कंटेंट लिखना होता है. ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। क्योंकि यह सोच उनकी गलत है। हाई क्वालिटी कंटेंट का मतलब होता है।

जो कंटेंट गूगल में नहीं है। गूगल के सर्च इंजन में नहीं आता है , या इसको अन्य ब्लॉगर ने अपनी वेबसाइट में नहीं डाला है. उसे हाई क्वालिटी कंटेंट कहते हैं। जो बिल्कुल नया कंटेंट होता है. उसको हाई क्वालिटी कंटेंट कहते हैं।

इसके लिए आपको हाई क्वालिटी कंटेंट लिखने के लिए टॉपिक आपका हाई क्वालिटी होना चाहिए। यदि आप हाई क्वालिटी कंटेंट लिखना चाहते हैं. तो उसके लिए आप गवर्नमेंट की वेबसाइट में जाए. या फिर आने वाले जितने भी अपडेट होते हैं. उनके ऊपर आर्टिकल लिखें।

8. Try Action and React

क्रिया तथा प्रतिक्रिया एक ब्लॉगर के लिए सबसे इंपोर्टेंट होती है। क्योंकि यदि हमें एक्शन के बारे में जानकारी हो जाए. तो हम रिएक्ट कर सकते हैं। मतलब नई जानकारी और नई चीजों के बारे में अलर्ट रहे।

जब यह आएंगे तो आपको इनके ऊपर काम करना होगा। उसको प्रतिक्रिया कहते हैं. मान लीजिए भारत सरकार ने कोई नई योजना बनाई है. उस नई योजना को सरकार सुचारू करने वाली है।

तो आप उसके बारे में लोगों को जानकारी दें. इससे जो आपने अपने ब्लॉग में लिखा है. उसी के ऊपर लोग रिएक्ट करेंगे। और आपकी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक आएगा।

9. keep updating the website from time to time

टाइम टू टाइम अपडेट करने का मतलब यह है. कि आप अपने अपने वेबसाइट में जो पोस्ट 2023 साल में लिखी है. उन पोस्ट को 2024 में आपको अपडेट करना होगा।

मतलब जो जानकारी आप ने 2023 में दिया है. क्या वह जानकारी 2024 में उपयुक्त है या नहीं उसके बारे में आपको जानकारी होगी। गूगल भी यही चाहता है। कि आपने जो 5 साल पहले लिखा था. क्या आप उसको अपडेट करेंगे।

यदि आप उसको अपडेट करेंगे। तो आपकी पोस्ट रैंक होने की संभावना 99% हो जाती है। इसलिए जो पोस्ट आपने 1 साल पहले लिखी है. या 5 साल पहले लिखी है। उसे आज के दिन आप को अपडेट करना होगा। और उसमें ज्यादा जानकारी डालनी होगी।

Frequently asked questions

1. वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक आता है ?

जरूर आता है. यदि आपने अपनी वेबसाइट को रैंकिंग फैक्टर के अनुसार बनाया है. गूगल के जितने भी रैंकिंग फेक्टर हैं. उनका प्रयोग करें। और अपनी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक लाये।

2, मेरी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक नहीं आ रहा है क्या करूं।

अगर आपकी वेबसाइट में ऑर्गेनिक ट्रैफिक नहीं आ रहा है. तो आप अपनी वेबसाइट मैं बैंक लिंक बनाएं। अपनी वेबसाइट को रेगुलर अपडेट करें। अपनी वेबसाइट की पोस्ट रेगुलर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में शेयर करते रहें। अपनी वेबसाइट की पॉपुलैरिटी बढ़ाएं। तब आपके वेबसाइट में और ऑर्गेनिक ट्रैफिक आएगा।

3. मैं अपनी वेबसाइट में हाई क्वालिटी पोस्ट कैसे लिखूं?

यदि आपको हाई क्वालिटी पोस्ट लिखने का तरीका नहीं आ रहा है. तो आप पहले रिसर्च करें। रिसर्च करने के लिए आपको गूगल ट्रेंड की मदद लेनी है. यहां से आपको यह पता चलेगा। कि अभी लोग क्या सर्च कर रहे हैं. क्योंकि लोग वही सर्च कर सकते हैं. जो आने वाला होता है , या आ चुका है. इसलिए हाई क्वालिटी पोस्ट हमेशा आपके एनालाइज करने के प्रोसेस में आ जाती है.

4. मैं अपनी वेबसाइट की रैंकिंग कैसे बड़ा सकता हु ?

वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ाने के लिए आपको हमेशा यूनिक आर्टिकल अपनी वेबसाइट में डालने हैं. इसी के साथ आपको अपनी वेबसाइट को रेगुलर अपडेट रखना है. और अपनी वेबसाइट की पोस्ट भी रेगुलर अपडेट करते रहें। और एक्शन एंड रिएक्ट में ज्यादा ध्यान दें. तो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग खुद ब खुद बढ़ जाएगी।

Conclusion

तो दोस्तों इससे पहले भी मैंने अपनी वेबसाइट में इस से रिलेटेड जानकारी डाली थी। शायद उसमें कुछ कमी कमजोरी रह गई होगी तो मैंने इस पोस्ट में आपको अच्छे से जानकारी दिया स्टेप बाय स्टेप।

अब आपको अपनी वेबसाइट में अच्छा ट्रैफिक लाने में कोई समस्या नहीं आएगी। पोस्ट में दी गई जानकारी आपको कैसी लगी। अपना कमेंट फीडबैक हमें जरूर दें. धन्यवाद

deepakbhatt

Welcome all of you to my website. I keep updating posts related to blogging, online earning and other categories. Here you will get to read very good posts. From where you can increase a lot of knowledge. You can connect with us through our website and social media. Thank you