Importance of Rakhi : रक्षा बंधन के बारे में ये बाते जान ले
67 / 100

Importance of Rakhi: Shravan (July/August) के Hindu महीने की पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला यह त्योहार अपनी बहन के लिए एक भाई के प्यार का Celebration के रूपमे मनाया जाता है।

इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधकर उन्हें बुरे प्रभावों से बचाती हैं. और उनकी लंबी उम्र और खुशियों की कामना करती हैं।

वे बदले में, Gift देते हैं जो एक promise है कि वे अपनी बहनों को किसी भी नुकसान से बचाएंगे। इन राखियों के अंदर पवित्र Feelings और wishes का वास होता है। यह त्यौहार ज्यादातर North India में मनाया जाता है।

Importance of Rakhi

Raksha-Bandhan का इतिहास Hindu पौराणिक कथाओं से मिलता है। Hindu पौराणिक कथाओं के अनुसार, Mahabharata में, महान भारतीय महाकाव्य, Pandavas की पत्नी Draupadi ने भगवान Krishna की कलाई से खून बहने से रोकने के लिए अपनी साड़ी के कोने को फाड़ दिया था.

(उन्होंने अनजाने में खुद को चोट पहुंचाई थी)। इस प्रकार, उनके बीच भाई और बहन का एक बंधन विकसित हो गया. और उन्होंने उसकी रक्षा करने का वादा किया।

यह एकता का एक महान पवित्र छंद भी है. जो जीवन की उन्नति के प्रतीक और एकजुटता के एक प्रमुख दूत के रूप में कार्य करता है। Raksha का अर्थ है protection, और मध्ययुगीन India में कुछ जगहों पर, जहां महिलाएं असुरक्षित महसूस करती हैं. वे पुरुषों की कलाई पर राखी बांधती हैं, उन्हें भाई मानती हैं।

इस तरह Rakhi भाइयों और बहनों के बीच प्यार के बंधन को मजबूत करता है और भावनात्मक बंधन को पुनर्जीवित करता है। Brahmin इस दिन अपना पवित्र धागा (जनोई) बदलते हैं. और खुद को एक बार फिर शास्त्रों के अध्ययन के लिए समर्पित कर देते हैं।

Two Words…

Raksha-Bandhan एक पवित्र त्यौहार है. जो भाई और बहन के रिश्ते को मजबूत करता है। इस दिन को मुख्य रूप से भाई बहन मिलकर मनाते हैं।

जैसा कि इसके इतिहास में Draupadi ने भगवान Krishna की कलाई से खून रोकने के लिए अपनी साड़ी का कोना फाड़कर उनके कलाई में बांध दिया था.

वैसे ही बहन अपने भाई की लंबी उम्र और उसके जीवन में कभी भी कोई परेशानी ना आए यह वादा करती हैं.

5/5 - (2 votes)

Similar Posts