What is Service Marketing in Hindi
70 / 100

What is Service Marketing in Hindi: सेवा के बारे में इससे पहली पोस्ट में मैंने बताया। और आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं. Service Marketing के बारे में , इससे पहले यदि आप Service के बारे में जानना चाहते हैं. तो आप इस पोस्ट को जरुर पढ़ें। अब हम विस्तार से बात करेंगे सेवा बाजारशास्त्र के बारे में

सेवा एक वस्तु है. जो बाजार में सबसे ज्यादा प्रख्यात बन चुका है. यह Business से Related कंसेप्ट नहीं है। यह वस्तु को बाजार में प्रवर्धन करने के लिए उपयोगी होता है.

Service Marketing Organization उद्देश्य को Managment विकास प्रवर्धन तथा सेवा आदान-प्रदान में मदद करता है। यह Cunsumer को Satisfaction प्रदान करता है। Service Marketing दो शब्द मिलकर बना है। चलिए सबसे पहले हम Marketing के बारे में चर्चा करते हैं.

Marketing के बारे में समझने से पहले हमMarket के बारे में बात करते हैं. मार्केट एक ऐसी जगह है. जहां लेनदेन का कारोबार किया जाता है. इसलिए आज Marketing सबसे ज्यादा Popular बन चुका है. मार्केटिंग के बारे में बात करें।

तो यह लेन-देन के कारोबार को व्यवस्थित करता है. और सुविधाजनक बनाता है. सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य Business के लिए लेन देन होता है. कोई भी Organization यह संगठन को समाज में लंबे समय तक रहने के लिए लेन देन करते रहना चाहिए।

इससे लोग नए वस्तु को खरीद करते रहते हैं। एक उत्कृष्ट संगठन विभिन्न प्रकार के फायदे एक समय में प्राप्त करते रहते हैं। जैसे employees, society, government और सभी उपभोग करता आदि

Exchange of Condition

इसमें कम से कम दो पक्ष होने चाहिए

दोनों पक्ष स्वीकार और अस्वीकार करने योग्य होने चाहिए

एक पक्ष दूसरे पक्ष को कुछ ना कुछ संतुष्टि प्रदान करने हेतु दे

दोनों पक्ष एक दूसरे के साथ संचार के माध्यम से वस्तु और सेवा प्रदान करें करता हो

दोनों पक्ष सेवा प्राप्त करते समय दोनों की आकांक्षाएं उपयुक्त होनी चाहिए

What is Service Marketing in Hindi

सामान्य भाषा में यदि Service Marketing के बारे में बात करें। तो इसका भाव सेवा को वस्तु के रूप में स्वीकार करना होता है। वैसे Human Behaviour का अनुसार दिखने वाली वस्तु को सेवा नहीं कहते हैं।

यह एक commercial activity है। यह सामाजिक कार्य without profit non economic activity है। अभी के समय में सेवा वस्तु के रूप में प्रयोग नहीं होती है। सेवा वस्तु के साथ जुड़कर आती है। इसको Design किया जाता है।

योजना बनाकर कस्टमर को Satisfaction पहुंचाने के लिए तैयार होता है. सर्विस व्यवसाय के अंदर स्मरणीय वस्तु को सेवा के साथ बिक्री करना होता है.

Activities within Service Marketing

बाजार की पहचान तथा यदि कहीं पहले से बने बनाए के बाजार नहीं है तो हमें अपने Product के लिए एक सही जगह बाजार की Managment करना है

  • उपभोक्ता की पहचान करना और उन्हें सेवा देना
  • बाजार का कितना वॉल्यूम है उसका लाभ का स्तर और आवश्यकता को समझना
  • सेवा की आवश्यकताएं और उसके प्रकार का अध्ययन करना
  • आवश्यकता अनुसार सेवा को आकृतिकरण करना
  • ऑर्गेनाइजेशन और उसकी आवश्यकताओ का मिलान करना
  • सेवा का मूल्य निर्धारण करना
  • उपभोक्ता सेवा को जहां प्राप्त करना चाहता है उसे वहां तक पहुंचाना
  • मूल्यांकन तथा अनुसंधान करते रहना

Nature of Service Marketing

service marketing को समझने के लिए हमें की प्रकृति को समझना आवश्यक है। के लिए विशिष्ट सेवा की प्रकृति जो marketing प्रक्रिया अंतर्गत विभिन्न प्रकार की होती हैं.

वस्तु का उत्पादन जिसको हम छू सकते हैं. और उपभोग कर सकते हैं दोनों एक समय में फर्क फर्क अवस्थाएं होती हैं। उत्पादन हुई वस्तु अंतर्गत सेवा रूपांतरण करके तैयार किया जाता है। उत्पादन तथा उपभोग दोनों में भिन्नता होती है.

बाजार को व्यवस्थापन करने के लिए Marketing किया जाता है. और संगठनात्मक उद्देश्य हासिल करने के लिए भी बाजारीकरण करते हैं. तो चलिए जानते हैं। Service Marketing अंतर्गत विशिष्ट कृति प्रकृति कौन-कौन सी हैं. जो हमें सेवा बाजारीकरण के बारे में पूर्ण रूप से उल्लेख करके बताएंगे।

  • Service Product
  • Service Production
  • Sales Management
  • Service Promotion
  • Human Resource Management
  • Time Management
  • Channel Management
  • Price Management
  • Service Consumption
  • Organization

Importance of Service Marketing

service marketing की प्रकृति के बारे में जानकारी प्राप्त कर ली होगी। अब मैं इसके महत्व को दर्शाते हुए जानकारी देता हूं। की service marketing का महत्व क्या है। क्योंकि किसी भी चीज का feature, importance, advantage, advantage आदि होते हैं। इसलिए महत्व हमारे लिए बहुत ही उपयोगी हो सकते हैं. जो नीचे उल्लेख किए गए हैं.

Service Marketing is different

Professional service and individual service

Service gives a better return

Service Marketing is different

Utilization of the Business Environment

Service is always a positive point of a Negative Situation

Service push up Organization Profit

Frequently asked questions

वस्तु सेवा क्या है?

वस्तु के साथ प्राप्त होने वाली सेवा को वस्तु सेवा बोलते हैं.

सेवा बाजार शास्त्र क्या है?

जब नया वस्तु निर्माण होता है। उस वस्तु के बारे में लोगों को पूर्ण जानकारी तथा वस्तु के साथ मिलने वाली सेवा को बाजार में जानकारी देने वस्तु marketing कहते हैं.

वस्तु सेवा उपभोक्ता के लिए क्यों उपयोगी है?

यदि वस्तु के साथ वस्तु सेवा ना दी जाए. तो किसी भी नए वस्तु को consumer समक्ष हम नहीं पहुंचा सकते हैं. क्योंकि अभी के समय consumer को वस्तु का उपभोग करने के लिए सेवा भी जरूरी है. सेवा वस्तु प्राप्त करने के बाद उपभोक्ता को संतुष्टि प्रदान करता है. जिससे संगठन को आगे बढ़ने में सहयोग मिलता है.

सेवा के कुछ उदाहरण बताएं।

मान लीजिए आप ने एक नई गाड़ी खरीदी है। उस गाड़ी के साथ आप को सेवा की प्राप्त होती है. उदाहरण के लिए हम एक नई Motorcycle खरीदते हैं. तो उसमें हमें Coupons, Scratch Cards, Free Service आदि प्राप्त होते हैं। उसे वस्तु के साथ मिलने वाली सेवा कहा जाता है.

Conclusion

प्रिय मित्रों आप लोगों को सेवा Marketing के बारे में क्या-क्या जानकारी मिली हमें Comment करके जरूर बताएं। पोस्ट में मैंने आपको Marketing के बारे में बताया और सेवा Marketing के बारे में जानकारी दी।

इस जानकारी के माध्यम से आपको सेवा और Service Marketing के बारे में सामान्य जानकारी प्राप्त हो गई होगी। इसी के साथ यदि आप Latest अपडेट पाना चाहते हैं. तो हमारी इसWebsite को Subscribe कर दें. ताकि नई पोस्ट के Notification आपको मिल जाए। Thank you

Rate this {Do Not forget to give Rating}

Similar Posts